Wp/anp/अरस्तू

From Wikimedia Incubator
< Wp‎ | anpWp > anp > अरस्तू
Jump to navigation Jump to search

Template:Infobox philosopher

thumb|200px|अरस्तु अरस्तु (384 ईपू – 322 ईपू) एगो यूनानी दार्शनिक रहै। वू प्लेटो केरौ शिष्य आरू सिकंदर केरौ गुरु छेलै। हुनकौ जनम स्टेगेरिया नामक नगर म होलौ रहै ।  अरस्तु न भौतिकी, आध्यात्म, कविता, नाटक, संगीत, तर्कशास्त्र, राजनीति शास्त्र, नीतिशास्त्र, जीव विज्ञान सहित कत्तै विषयो पर रचना करलकै। अरस्तु न आपनौ गुरु प्लेटो के कार्य क आगे बढ़ैलकै। प्लेटो, सुकरात आरू अरस्तु पश्चिमी दर्शनशास्त्र के सबसे महान दार्शनिकों में एक थे।  उन्होंने पश्चिमी दर्शनशास्त्र पर पहली व्यापक रचना की, जिसमें नीति, तर्क, विज्ञान, राजनीति और आध्यात्म का मेलजोल था।  भौतिक विज्ञान पर अरस्तु के विचार ने मध्ययुगीन शिक्षा पर व्यापक प्रभाव डाला और इसका प्रभाव पुनर्जागरण पर भी पड़ा।  अंतिम रूप से न्यूटन के भौतिकवाद ने इसकी जगह ले लिया। जीवविज्ञान उनके कुछ संकल्पनाओं की पुष्टि उन्नीसवीं सदी में हुई।  उनके तर्कशास्त्र आज भी प्रासांगिक हैं।  उनकी आध्यात्मिक रचनाओं ने मध्ययुग में इस्लामिक और यहूदी विचारधारा को प्रभावित किया और वे आज भी क्रिश्चियन, खासकर रोमन कैथोलिक चर्च को प्रभावित कर रही हैं।  उनके दर्शन आज भी उच्च कक्षाओं में पढ़ाये जाते हैं।  अरस्तु ने अनेक रचनाएं की थी, जिसमें कई नष्ट हो गई। अरस्तु का प्रसिद्ध ग्रंथ पोलिटिक्स है।[1]

सन्दर्भ[edit]

Template:टिप्पणीसूची

बाहरी कड़ी[edit]

अरस्तु के महान विचार (Aristotle Quotes in Hindi)

Template:प्राचीन यूनान के प्रमुख दार्शनिक

Template:साँचा:भूगोलवेत्ता

  1. भाषा विज्ञान, डा० भोलानाथ तिवारी, किताब महल- दिल्ली, पन्द्रहवाँ संस्करण १९८१, पृष्ठ-४८१